गोविन्द गली तेरी उस दिन ही छूटेगी भजन लिरिक्स Govind Gali Teri Bhajan Lyric

गोविन्द गली तेरी उस दिन ही छूटेगी लिरिक्स Govind Gali Teri Lyrics, Krishna Bhajan by Sandeep Bansal तेरी गलियों का हूँ आशिक़,मैं किधर जाऊँगा,तेरा दीदार ना होगा,तो मैं मर जाऊँगा,छोड़ कर सारे ज़माने को,हुआ हूँ तेरा,ताने मारेगा ज़माना,मैं जिधर जाऊँगा। गोविन्द गली तेरी,उस दिन ही छूटेगी, जिस दिन मेरी साँसों की,ये डोरी टूटेगी,गोविन्द गली तेरी,उस दिन ही … Read more

error: Content is protected !!